Bharat Result

Bihar Health Department Recruitment 2023: बिहार हेल्थ विभाग में 1.68 लाख पदों पर भर्ती

Bihar Health Department Recruitment 2023: बिहार हेल्थ विभाग में 1.68 लाख पदों पर भर्ती

Bihar Health Department Recruitment 2023: बिहार हेल्थ विभाग में 1.68 लाख पदों पर भर्ती: बिहार सरकार ने ऐलान किया है, कि स्वास्थय विभाग में 1 लाख 68 हजार पदों पर जल्द भर्ती किए जाएंगे। इतनी भर्ती एक बार में नहीं किए जाऐंगे। ये सभी भर्तीयां चरण वाइज किए जाएगेँ। बिहार के स्वास्थ्य विभाग 1.68 लाख पदों पर बहाली होगी, इसमें 8000 नए सृजित पद हैं। इसमें अब तक 13 हजार पदों पर नियुक्ति हो गई है जबकि शेष पर बहाली की प्रक्रिया जारी है।




Bihar Health Department Recruitment 2023: बिहार हेल्थ विभाग में 1.68 लाख पदों पर भर्ती




Bihar Health Department Recruitment 2023

यही नहीं मेडिकल कॉलेज अस्पताल से लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तक में डॉक्टरों, नर्सों के साथ अन्य पारा मेडिकल कर्मियों की कमी भी जल्द दूर होगी। इसके लिये डॉक्टरों की गृह जिले में पोस्टिंग होगी।  एएनएम-नर्स (ANM-Nurse) भी अपने-अपने जिले में आयेंगी। उनका और हेल्थ मैनेजर का स्टेट कैडर बनाया जा रहा है। आशा-ममता दीदियों का मानदेय बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।

See also  बिहार के सभी यूनिवर्सिटी की होगी अपनी एप, राजभवन की रहेगी नजर




डॉक्टरों की हड़ताल की स्थिति से निपटने के लिए इमरजेंसी कैडर बनाया गया है। विधानसभा में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने स्वास्थ्य विभाग की 16,966 करोड़ की अनुदान मांग पर जवाब देते हुए ये घोषणा की। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि सरकार तीन जिलों गोपालगंज, सुपौल और मुंगेर में भी मेडिकल कॉलेज खोलेगी। वहीं इमरजेंसी (दुर्घटनाग्रस्त ) मरीजों को तत्काल इलाज मुहैया कराने के लिये हाईवे के निकट पूरे राज्य के 11 जिलो में ट्रॉमा सेन्टर खोले जाएंगे।

Health Departmental Recruitment Update 2023

झझवा (गोपालगंज), रजौली (नवादा), महेशखुंट (खगड़िया), अररिया संग्राम (मधुबनी), रहुई (नालंदा), चकिया (पूर्वी चंपारण), शेरघाटी (गया), नरपतगंज (अररिया), गोरौल (वैशाली) और रजौन (बांका) और मोहनिया (कैमूर) में ट्रॉमा सेंटर खोले जाएंगे। पीएमसीएच को जिस तरह 5,500 करोड़ रुपए खर्च कर विस्तार किया जा रहा है उसी तरह डीएमसीएच, दरभंगा का भी विस्तार किया जाएगा।

आईजीआईएमएस के विस्तार पर 513 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। अब प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में 387 की जगह 611 मुफ्त दवाएं दी जा रहीं है और 161 तरह के जांच किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए जिला अस्पतालों में मिशन 60 शुरू किया गया था। अब पीएचसी भी मिशन 60 अभियान में शामिल होंगे। मरीजों के बेहतर इलाज को 21 सदर अस्पतालों को मॉडल अस्पताल बनाया जा रहा है।

See also  बिहार सरकार का बड़ा फ़ैसला: महिलाओं को गर्भपात कराने का मिला कानूनी हक




Important Links

Apply Online: Available Soon

Notification Website: Click Here

Official Website: Click Here

Go To Home: Click Here

Join Telegram Channel: Click Here

Disclaimer: The Examination Results / Marks published on this Website are only for the Examinees’ immediate Information and are not to be constituted as a Legal Document. We are not responsible for any Inadvertent Error that may have crept into the Examination Results / Marks being published on this Website and for any loss to anybody or anything caused by any Shortcoming, Defect, or Inaccuracy of the Information on this Website. All data (counting all Notes) on https://bharatresult.net/ has been incorporated from the particular authority sites, Daily paper, and other dependable sources.



Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top